कोरोना पर दिए बयान से पलटा WHO, कहा-बिना लक्षण वाले मरीज भी दूसरे को कर सकते हैं संक्रमित

कोरोना पर दिए बयान से पलटा WHO, कहा-बिना लक्षण वाले मरीज भी दूसरे को कर सकते हैं संक्रमित

वाशिंगटन। विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization-WHO) ने बिना लक्षण वाले मरीजों को लेकर दिए बयान पर अपना स्पष्टीकरण दिया है। WHO का कहना था कि एसिंप्टोमेटिक (लक्षणविहीन) संक्रमितों से महामारी फैलने का खतरा बहुत कम होता है। अब विश्व स्वास्थ्य एजेंसी इस बात से मुकर रही है कि ऐसे लोग भी दूसरों को कोरोना वायरस से संक्रमित कर सकते हैं। इनमें बीमारी के लक्षण नहीं दिखाई दे रहे हैं। ऐसे संक्रमण को Pre-Symptomatic कहते हैं।
सामान्य तौर पर वायरस का संक्रमण 5 से 6 दिनों बाद सामने आ जाते हैं, मगर इसमें 14 दिन का समय भी लग सकता है। इन आंकड़ों के अनुसार पीसीआर (Polymerase Chain Reaction) टेस्ट के जरिए लक्षण उभरने के दो-तीन दिन पूर्व ही पहचान हो सकती है। स्वास्थ्य संगठन ने बताया कि बिना लक्षण वाले मरीज भी दूसरे को संक्रमित कर सकते हैं।

अमरीका के निशाने पर विश्व स्वास्थ्य संगठन
गौरतलब है कि कोरोना महामारी को अमरीका सहित कई यूरोपीय देश उसके रोल पर सवाल उठा रहे हैं। अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप संगठन पर सीधा हमला बोला था। उनका कहना है कि संस्था ने इस संक्रमण की जानकारी को सही को सही समय पर दुनिया के सामने पेश नहीं किया है। उन्होंने साफ कहा था कि WHO चीन के प्रभाव में काम कर रहा है। अमरीका ने WHO को दी जाने वाली बड़ी फंडिंग पर भी पूरी तरह से रोक लगा दी है। हालांकि अमरीका के ऐसा करने के कुछ ही दिनों बाद चीन ने WHO को बड़ी फंडिंग का वादा कर दिया। चीन के इस कदम से अमरीका के आरोपों को और मजबूती मिलती है।

सच की शक्ति

सच की शक्ति

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
shares
Wordpress Social Share Plugin powered by Ultimatelysocial
WhatsApp chat